करियर Live.net

कहां से करें Blockchain Technology Course

कोरोना के इस दौर ने नौकरी, कारोबार सब पर बहुत बड़ा असर डाला है। लाखों लोग बेरोजगार हुए और लाखों लोगों के रोजगार पर अभी भी संकट मंडरा रहा है। चुनौतियों का सामना करने का एक ही उपाय है कि हम अपने Skills को और बढ़ाएं। नई-नई तकनीकों को सीखकर खुद को उसमें योग्य बनाएं। अगर हम यह अंदाजा लगा लें कि आने वाले दिनों में किस तकनीक में रोजगार की संभावनाएं खुलने वाली हैं और उस तकनीक में खुद को कैसे सक्षम बना सकते हैं, तो फिर आगे का सफर एकदम आसान हो जाता है। ऐसी ही एक तकनीक है – ब्लॉकचेन तकनीक (Blockchain Technology), जिसमें आगे की बहुत संभावनाएं देखी जा रही हैं।

ब्लॉकचेन तकनीक क्या है?

आगे बढ़ने से पहले हम यह समझ लेते हैं कि ब्लॉकचेन तकनीक क्या है (What is Blockchain Technology in Hindi)? आपने क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) या बिटक्वाइन (Bitcoin) के बारे में तो जरूर सुना या पढ़ा होगा। आप सोचेंगे कि ब्लॉकचेन तकनीक का क्रिप्टोकरेंसी या बिटक्वाइन से क्या लेना-देना है, लेकिन ब्लॉकचेन तकनीक को समझने के लिए यह जरूरी है कि क्रिप्टोकरेंसी और बिटक्वाइन के बारे में जान लें। क्रिप्टोकरेंसी डिजिटल करेंसी है, यानी ऐसी मुद्रा या करेंसी जिसका इस्तेमाल इंटरनेट के माध्यम से होता है। जो ऑनलाइन उपलब्ध होती है। यह वर्चुअल यानी आभासी है। बिटक्वाइन एक तरह की क्रिप्टोकरेंसी है, जो एक वक्त काफी चर्चा में थी। बिटक्वाइन की तरह ही कई और डिजिटल करेंसी है, जैसे वॉइसक्वाइन, रेडक्वाइन आदि। ब्लॉकचेन Digital Ledger है, मतलब कि ऐसा बही-खाता, जिसमें डिजिटल लेन-देन का सुरक्षित रिकॉर्ड दर्ज होता है। यह कई ब्लॉक (डेटा) की चेन है, यानी कि आंकड़ों की श्रृंखला है। उम्मीद है कि अब आप समझ गए होंगे कि यह तकनीक क्या है और इसका क्या इस्तेमाल है।

ब्लॉकचेन की बढ़ती मांग

अब जान लेते हैं कि इस तकनीक से करियर के लिहाज के क्या फायदा होगा। क्रिप्टोकरेंसी या बिटक्वाइन को लेकर हाल में काफी विवाद रहा। बिटक्वाइन को बड़े घोटाले के तौर पर भी देखा जानने लगा। लेकिन जहां तक तकनीक की बात है तो कोई भी देश उसमें पीछे नहीं रहना चाहता, निस्संदेह भारत भी तकनीक के लिए अपने दरवाजे बंद नहीं करना चाहता। हाल में ही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने साफ किया था, “क्रिप्टोकरेंसी या कम से कम इससे जुड़ी तकनीक पर पूरी तरह पाबंदी नहीं होगी।“ क्रिप्टोकरेंसी से जुड़ी तकनीक – ब्लॉकचेन ही है, जिसका आज सिर्फ फाइनेंस ही नहीं, बल्कि कई सेक्टर में इस्तेमाल हो रहा है। आने वाले दिनों में यह तकनीक और भी विस्तार लेगी और इसके जानकार की मांग भी बढ़ेगी। आने वाले दिनों में सबसे ज्यादा मांग में रहने वाली नौकरियों की श्रेणी में ब्लॉकचेन तकनीक को दूसरे नंबर पर रखा गया है।

आर्ट में ब्लॉकचेन का इस्तेमाल

आर्ट में भी ब्लॉकचेन तकनीक इस्तेमाल में लाई जाने लगी है। पिछले दिनों यह खबर सुर्खियों में थी कि 10 सेकेंड की वीडियो क्लिप 66 लाख डॉलर यानी 48.44 करोड़ रुपये में बिकी। इस वीडियो में डोनाल्ड ट्रंप को धरती पर गिरते हुए दिखाया गया और उनके शरीर पर ढेरों नारे लिखे हैं। इस वीडियो को बीपल (असल नाम माइक विंकलमन) ने तैयार किया था और ब्लॉकचेन से इसे प्रमाणित किया गया था कि यह वास्तविक रचना (Original Work) है, कोई नकल नहीं है।

कहां से कर सकते हैं Course

  1. IIT Kanpur ने Blockchain Technology पर Online Professional Certificate Program शुरू किया है, जो कि 4 महीने का है।
  2. National  Power Training Institute (NPTI) से Blockchain Technology पर Short Term Course कर सकते हैं।
  3. Kerala University of Digital Sciences Innovation and Technology (KUDSIT) में Blockchain Technology पर Online Short Term Course उपलब्ध है।
  4. कई Private University में भी Blockchain Technology पर कोर्स चलाए जा रहे हैं।

Leave a Comment